how-to-fix-aadhar-card-reject-issue-in-hindi

आधार कार्ड रिजेक्ट होने पर क्या करें | ऐसा कैसे और क्यों होता है पूरी जानकारी

क्या आपने हाल-फिलहाल अपना नया आधार कार्ड एनरोलमेंट या करेक्शन करवाया था और वह रिजेक्ट हो गया है? यदि हाँ , तो इस पोस्ट को जरूर पढ़े अपने Aadhar Card Enrollment/Correction Reject होने का कारणों के बारे में जान ने के लिए. मैं आपको यह बताऊँगा की अगर आपका आधार किसी भी कारन से अस्वीकार हो जाता हैं तो क्या करना है, कैसे इस परिस्थिति का हल निकलना है.

आधार कार्ड Rejection होते रहते हैं और इसके कई Reasons हो सकते हैं. चाहे आप आपने नया आधार कार्ड बनवा रहें हैं या उसमे सुधार करवा रहे हैं, किसी टेक्निकल रीज़न, डेटा प्रोसेसिंग त्रुटि या गलत डॉक्यूमेंट प्रूफ के वजह से हो सकता है. अब, रिजेक्ट क्यूँ हुवा, इसका सटीक रीज़न पता लगाने के लिए आपको UIDAI के ऑफिसियल वेबसाइट पर जाके आधार कार्ड स्टेटस चेक करना होगा.

इस आर्टिकल में आपको हर एक चीज बारीकी से समझाया जायेगा जैसे: आपका आधार कार्ड एनरोलमेंट रिजेक्ट कैसे और क्यूँ हुवा? इसके वजह को जान ने के लिए आपको इसके पीछे की प्रक्रिया को समझना होगा. आपको डायरेक्ट हल नहीं बताया जायेगा क्यूंकि इस से और दिक्कत बढ़ जाती है नहीं कोई हल निकलता है. चलिए, अब आधार रिजेक्शन प्रक्रिया को अच्छी तरह से समझते हैं.

दिक्कतों की बात की जाय तो आधार एनरोलमेंट रिक्वेस्ट रिजेक्ट जो जाने के बाद किस-किस परेशानियों का सामना करना पड़ता है:

  • आधार सेंटर दोबारा जाना (दूर हुवा तो एक्स्ट्रा भाड़ा खर्चा होना)
  • फिर से आधार एनरोलमेंट करवाना
  • चार्ज दोबारा देना (यह रिजेक्ट होने के कारन पर निर्भर करता है)

आधार कार्ड रिजेक्ट होने का कारन (Reasons For Aadhar Card Rejection)

आप कोई आधार सर्विसेज के लिए अप्लाई करते हैं जैसे New Aadhar Enrollment या Aadhar Correction/Update इत्यादि, तो किसी कारन वर्ष जब आपका एनरोलमेंट या करेक्शन विफल हो जाता है तो इसके मुख्य चार कारन हो सकते हैं:

  • तकनीकी विफलता (Technical Error)
  • डाटा प्रोसेसिंग त्रुटि (Data Processing Error)
  • अमान्य या गलत डॉक्यूमेंट प्रूफ (Invalid Document Proof)
  • बार-बार आधार एनरोलमेंट करवाना (Duplicate Enrollment)

ऊपर दिया गए चार मैन रीज़न है जिसके कारन आधार कार्ड रिजेक्ट हो जाते हैं. अगर, आप कारणों को अच्छी तरह से समझ जायेंगे तो उसका हल निकलना भी सरल होगा.

आधार कार्ड एनरोलमेंट/अपडेट रिजेक्ट होने पर क्या करें (What To Do When Aadhar Is Rejected)

आगर, आपका भी आधार रिजेक्ट हो चूका है तो सबसे पहले आपको रिजेक्ट होने का कारन पता लगाना है. यह करना अति अनिवार्य है क्यूंकि इसके बिना आपका समय सिर्फ बर्वाद होगा और कोई हल भी नहीं निकलेग. रिजेक्ट होने का मुख्य कारन जान के लिए निचे के स्टेप्स को फॉलो करे.

  1. पहले, UIDAI के ऑफिसियल साइट पर जाय.
  2. “Get Aadhar” सेक्शन के निचे जायँ.
  3. Check Aadhaar Status पर क्लीक करे.
  4. अपना Enrollment ID और Date भरे.
  5. कैप्चा वेरिफिकेशन पूरा करे.
  6. अंतिम में, “Check Status” पर क्लीक करे.
  7. अब, कुच्छ सेकडस में स्क्रीन पर आधार स्टेटस दिखाया जायेगा.
  8.  अगर, रिजेक्ट होता है तो मुख्य कारन स्क्रीन पर शो करेगा.
  9. रिजेक्ट होने का कारन को अच्छी तरह से नोट कर ले.

जब आपको आधार कार्ड रिजेक्ट होने का रीज़न पता लगा गया है, तो आप इसका हल भी निकाल सकते हैं. ध्यान रहे, आधार अस्वीकार होने के कई कारन हो सकते हैं और सबका हल अलग-अलग होता है. सरल भासा में बोले तो आधार रिजेक्ट इशू को फिक्स करने के लिए उसका क्या उपाय होगा रीज़न पर निर्भर करता है. अब, कौन सा रीज़न का क्या हल होगा जान ने के लिए निचे पढ़े.

Technical Reasons होने पर क्या करे

Meaning: टेक्निकल एरर के कई कारन हो सकते हैं जैसे आधार एनरोलमेंट सॉफ्टवेयर में कोई अचानक बग आना, सॉफ्टवेयर क्रैश होना इत्यादि। UIDAI के सर्वर डाउन रहने पर या किसी भी प्रकार की सर्वर इशू के कारन भी आधार अस्वीकार या फ़ैल हो जाता है.

उपाय: टेक्निकल प्रॉब्लम होने पर न तो आपको गलती होती और न ही आधार एनरोलमेंट ऑपरेटर की. इसका एक ही सोलुशन है की आपको फिर से आधार एनरोलमेंट/करेक्शन करवाना होगा. धायण रखे की पहला एनरोलमेंट स्लिप जरूर सबमिट कर दें ऑपरेटर के पास.

Data Process Error होने पर क्या करे

Meaning: डेटा प्रोसेसिंग एरर तब होता है जब ऑपरेटर आधार एनरोलमेंट या करेक्शन डेटा एंट्री के दौरान कोई मिस्टेक करता है. अगर, ऑपरेटर कुच्छ ज्यादा समय लगाने लगता है या आधार सॉफ्टवेयर बेकार छोड़ देता हैं तो भी डेटा एरर होने का संभावना होता है.

उपाय: डेटा प्रोसेस इशू ज्यादा तर ऑपरेटर के कारन होता है, लेकिन इसमें कभी-कभी आधार सॉफ्टवेयर के क्रैश होने के वजह से बी भी होता है. अगर आपने आधार एप्लीकेशन फॉर्म में कुच्छ गलत इंफोरशन ढाला होगा जो डॉक्युमनेट प्रूफ से मैच नहीं करता है तो भी यह इशू हो सकता है. इसका उपाय यही है की आपको एक बार और आधार एनरोलमेंट करवाना होगा सही से बिना कोई डेटा एंट्री एरर के और पहला वाला एनरोलमेंट रसीद देना न भूले.

Invalid Document देने के कारन रिजेक्ट हुवा तो क्या करना है

Meaaning : अक्सर, आधार रिजेक्ट होते रहते हैं इनवैलिड डॉक्युमनेट प्रूफ सबमिट करने के वजह से कोई भी आधार सर्विसेज का लाभ उठाने के लिए. अगर, आपको आधार कार्ड में नाम चेंज करवाना है और आप ऐसा कोई दस्तावेज देते हैं जो UIDAI एक्सेप्ट हिन् नहीं करता तो रिजेक्ट होगा हीं.

उपाय:  Invalid Documnet वाली गलती ज्यादा तर आपकी हीं होती है या जब आधार ऑपरेटर आपको गलत इनफार्मेशन देता है डॉक्यूमेंट प्रूफ को लेके. UIDAI के साइट पर जायँ और ऑफिसियल आवश्यक दस्तावेज़ सूची देख ले. वैसे यहाँ पर भी आपको डॉक्यूमेंट लिस्ट मिल जायेगा नोचे दिए गए लिंक के द्वारा:

अब, सही दस्तावेज लेके जायँ और ध्यान रहें की आपको ओरिजिनल डॉक्यूमेंट ले जाना है. अपना आधार एनरोलमेंट फिर से करवाय और ज़ेरॉक्स कॉपी भी नहीं चलेगा क्यूंकि यह मान्य नहीं है. एक बात और पुराण वाला एनरोलमेंट स्लिप भी साथ में जमा करना है ताकि कोई दिक्कत न हो.

Duplicate Enrollment के वजह से  रिजेक्ट होने पर क्या करना है

Meaning: कोई भी निवासी अपने जीवनकाल में सिर्फ एक बार हीं नया आधार एनरोलमेंट करवा सकता हैं और आधार करेक्शन अपने जरुरत के हिसाब से जितनी बार करे जो UIDAI के निर्धारित किया है. अगर, आप बार-बार आधार एनरोलमेंट करवाएंगे तो रिजेक्ट होगा हीं. इसे डुप्लीकेट एनरोलमेंट कहते हैं और यह भी अक्सर देखा जाता है आय दिन.

उपाय:  अगर, आपने पहले कभी-भी कहीं भी आधार एनरोलमेंट या करेक्शन करवाया है तो आपको एक एनरोलमेंट स्लिप जरूर मिला होगा. यही स्लिप को आपको आधार ऑपरेटर को देना है जब आप दोबारा एनरोलमेंट करवाते हैं तो तै कोई डुप्लीकेट एनरोलमेंट का इशू ना आय. यदि आपके पास पुराण वाला रसीद नहीं यही तो काम से काम यह ऑपरेटर का जरूर बताय.

ध्यान रहें, आपको पहला वाला रसीद तभी जमा करना पड़ता है जब वह रिजेक्ट कर दिया जाता है. जो आधार एनरोलमेंट/करेक्शन रिक्वेस्ट पहले स्वीकार ले लिए गए हैं, उसे जमा करने की कोई जरुरत नहीं पड़ती है.

Conclusion (निष्कर्ष)

आशा करता हूँ की आपको अब वह पता चल होगा की आधार कार्ड रिजेक्ट कैसे होता है और क्यों होता हैं. साथ ही साथ मैंने आपको उपाय भी बताया आधार रिजेक्ट इशू को फिक्स करने के लिए. इस आर्टिकल में मैंने सारे प्रकार के एरर का बात किया है और सब का सोलुशन भी शेयर किया है. अगर, आप परेशान हो गए हैं UIDAI के दौरा बार-बार रिजेक्शन से तो यह पोस्ट  आपकी जरूर मदद करेगा.

Leave a Reply