aadhar-card-fraud-misuse-se-kaise-bache

आधार कार्ड को गलत इस्तेमाल से कैसे बचाय | आधार फ्रॉड से कैसे बचे

क्या आपके पास आधार कार्ड है? यदि, हाँ तो यह बात जान ले की आपके आधार कार्ड का कोई गलत इस्तेमाल भी कर सकता है. आधार कार्ड फ्रॉड से बचने के लिए इस पोस्ट को पूरा पढ़े.

आज, आधार कार्ड का उपयोग हर एक सरकारी और प्राइवेट संगठन में होता है. बिना, आधार का कोई भी सरकारी सेवा का लाभ नहीं उठाया जा सकता है. आधार हम सब के लिए सहूलियत के लिए बनाया गया है. UIDAI ने आधार को बहुत उच्चतम लेवल का सिक्योरिटी से प्रोट्रक्ट किया है. फिर भी, हमारा फर्ज बनता हैं की हम अपने तरफ से इसका गलत उपयोग या मिसयूज होने से रोके.

आधार कार्ड को मिसयूज या फ्रॉड से केस बचाय: 4 तरीके

जी हाँ, आधार कार्ड गलत हाथों से बचाने के लिए मैं 4 जेन्युइन तरीके बताऊँगा. निचे दिए गए सुझाओ को पढ़ने के बाद आप आसानी से अपने आधार को महफूज रख पाएंगे. यह चार तरीकों को हर एक आधार कार्ड धारी को अपनाना चाहिए, ताकि आधार नंबर बिना आपके सहमति से इस्तेमाल न कर लिया जाय. चलिए, शुरू करते है:

आधार कार्ड कहाँ-कहाँ देना जरुरी नहीं है

आपको पता होना चाहिए की आधार कहाँ- कहाँ देना जरुरी है. जहाँ, आधार की आवशयकता नहीं तो वहां अपना आधार नंबर ना दें. सुप्रीम कोर्ट के वर्डिक्ट के अंतर्गत स्कूल में दाखिला, नया सिम कनेक्शन, बैंक खता, पेंशन, इत्यादि के लिए आधार देना जरुरी नहीं है.

निचे दिए कोई भी सर्विस का लाभ उठाने के डायरेक्टली अपना आधार नंबर न दें (Aadhar Virtual ID या Masked Aadhar दें) :

  1. बैंक खाता
  2. नया सिम कनेक्शन
  3. क्रेडिट कार्ड
  4. मुचल फण्ड
  5. इन्सुरन्स पालिसी
  6. मोबाइल नंबर वेरिफिकेशन
  7. एम्प्लोयी पेंशन
  8. नया या पुराण पोस्ट ऑफिस स्कीम्स
  9. नया या पुराण विकास पत्र
  10. नया या पुराण PPF अकाउंट
  11. नया या पुराण NSC स्कीम्स

ऊपर दिए गए कोई भी सर्विस का लाभ उठाने के लीये अपना आधार वर्चुअल नंबर दें. आप चाहे तो मास्क्ड आधार कार्ड भी दे सकते हैं. ऐसे कई सर्विसेज हैं जैस सेंट्रल या स्टेट वेलफेयर स्कीम्स, इनकम टैक्स फाइलिंग और पैन कार्ड आदि का पूरा लाभ उठाने के लिए आधार नंबर देना अनिवार्य है.

आधार बायोमेट्रिक ऑथेंटिकेशन को ब्लॉक करके

ऐसे लाखों आधार धारक होंगे जिनको यह पता नहीं है की वो अपना बायोमेट्रिक फीचर को ब्लॉक भी कर सकते है. अगर, आपको लगता है की कोई आपका आधार फिंगरप्रिंट के द्वारा जबरदस्ती यूज़ कर सकता है. यदि हाँ, तो इस से बचने के लिए आपको  UIDAI के ऑफिसियल वेबसाइट जाकर अपना आधार बायोमेट्रिक फीचर लॉक करना होगा.

आप चाहे तो कभी-भी अपना बायोमेट्रिक लॉक्ड फीचर अनलॉक भी कर सकते है. यह फीचर बहुत ही काम का है अगर आप ऐसा कोई परिस्तिथि में फसते हैं तो. रहा बात यह की हम अपना आधार बायोमेट्रिक ऑथेंटिकेशन फीचर को लॉक/अनलॉक कैसे करे. आप चाहे तो आपने आधार नंबर भी लॉक कर सकते हैं जिसके फलस्वरूप आपका आधार कोई काम का नहीं रहेगा जब तक आप उसे अनब्लॉक नहीं करते हैं तो.

यह जरूर पढ़े:

अपने आधार कार्ड का यूसेज हिस्ट्री रेगुलर चेक करते रहें

कोई भी आधार धारक यह आसानी से पता लगा सकता है की उसका आधार कब-कब और किस सर्विस लेने के लिए यूज़ किया गया है. आपको इसके लिए UIDAI के ऑफिसियल वेबसाइट पर जाना होगा अपना आधार कार्ड यूसेज हिस्ट्री ट्रैक करने के लिए. यह सर्विस ऑनलाइन उपलब्ध है और फ्री है. आधार कार्ड यूसेज हिस्ट्री चेक  करने के बाद अगर आपको कुछ गलत लगता है तो अपना आधार तुरंत ब्लॉक कर दे.

अपना आधार कार्ड कब-कब उपयोग किया गया है, इतिहास जान ने के लिए इसे पढ़े: आपने कब-कब आधार से ऑनलाइन ऑथेंटिकेशन करवाया है कैसे पता करे

आधार से जो-जो सर्विसेज लिंक्ड है जिसकी जरुरत नहीं है उसे डी-लिंक कर दे

आपको पता होना चाहिए की आपके आधार से कौन-कौन सी सर्विसेज लिंक्ड है. जो भी सर्विसेज लिंक्ड है, क्या वह आपके काम का है? क्या वह ट्रस्टेड है? अगर लिंक्ड सेवा कोई काम का नहीं है या ट्रस्टेड नहीं है तो उसे तुरंत अनलिंकेड कर दें.

ऐसा कोई डायरेक्ट मेथड नहीं है जिसके द्वारा आप कोई भी सर्विसेज को अपने आधार से हटा सकते हैं. आपको जिस भी सर्विस को अनलिंक करना है उसके कंपनी से कांटेक्ट करे. आप कंपनी के कस्टमर केयर नंबर या ईमेल से संपर्क कर सकते हैं.

निष्कर्ष

आपको आपने आधार को लेके हमेशा सतर्क रहना चाहिए. ऊपर दिए गए चारोँ तरीकों को जरूर अपनाय, अगर आप नहीं चाहते की आपका आधार गलत हाथों में जाय. ध्यान रहने आप ऑनलाइन UIDAI के साइट पर जाकर Complain भी कर सकते है. आधार से सम्बंधित जानकारी पानेको  के लिए इस आधारसेवा साइट पर रेगुलर आते रहें.

आशा करता हूँ की आपको यह आर्टिकल अच्छी लगी होगी और समझ में आई होगी. यदि आपको कहीं पर दिक्कत है तो निचे जरूर कमेंट करे, मैं आपके हर एक कमेंट का जवाब दूंगा.

Leave a Reply